Tuesday, April 20, 2021

Call boy ne seema bhabhi ki chudai ki kahani

 Seema bhabhi sex story in hindi

 Seema bhabhi sex story in hindi :- हेलो दोस्तों कैसे हो आप सब? मुझे तो आप सब जानते ही है. फिर भी जो नई रीडर्स स्टोरी पढ़ने आये है उनको मई अपने बारे में बता देता हु.मेरा नाम रोहित है. मई एक कॉल बॉय हु. मेरी आगे २२ है और लुंड का साइज ७″ है. मई राजस्थान का हु.

 मैंने अब तक बहुत सी लड़कियों एंड भाभियो को छोड़ा है. अब मई अपनी स्टोरी पर आता हु. इस स्टोरी में मैंने एक हाउसवाइफ को कॉल बॉय सर्विस दी थी.वो मेरी सर्विस से बहुत खुश हुई थी और मुझे २ दिन के जयपुर ट्रिप पर ले गयी और वह भी मैंने उसको खूब छोड़ा और उसने मुझे मेरे चार्जेज दिए. जयपुर में मैंने उसके साथ क्या किया ये आपको इस स्टोरी के नेक्स्ट पार्ट में बताऊंगा. 

Seema bhabhi sex story in hindi

 Seema bhabhi sex story in hindi


 

अभी इस पार्ट में मई आपको ये बताने जा रहा हु की कैसे मैंने उस हाउसवाइफ को choda. तो स्टोरी स्टार्ट करता हु.मेरे पास १० दिन पहले एक मेल आया. उस मेल में उस हाउसवाइफ लेडी ने अपने बारे में बताया. उसने कहा-लेडी: मेरा नाम सीमा अग्गरवाल है. मेरी आगे ३५ है और मई लखनऊ की रहने वाली हु.

उसने मुझे कहा की वो छोड़ना चाहती है. मैंने उससे रिप्लाई दिया-मई: मैडम आपको मेरे होमटाउन आना होगा. मई यही chodta हु.वो आने को मान गयी और २ दिन बाद आने को बोल रही थी

. फिर २ दिन बाद वो मेरी सिटी के होटल में रुकी. उसने मुझे फ़ोन किया की वो आ चुकी है और मुझे भी अपने पास उसी होटल में बुला लिया.फिर मई उसके होटल में गया और उसके रूम की बेल्ल बजायी तो सीमा ने दूर ओपन किया.

 उस वक़्त उसने ब्लू जीन्स एंड ब्लू टॉप पहने हुए थी. उसकी गांड जीन्स में उभरी हुई थी. उसको देख कर मैंने स्माइल पास की तो उसने भी स्माइल दी और हेलो से रिप्लाई दिया.हम दोनों सोफे पर बैठे थे. उसने कॉफ़ी आर्डर की और हम कॉफ़ी पीने लगे. 

वो मुझसे पूछ रही थी-

सीमा: फिर कैसे खुश करोगे बेबी मुझे आज?

मैं: बेबी टेंशन मत लो आज आपको पूरा खुश करके भेजूंगा. आपको पूरा मज़ा मिलेगा.सीमा: हम्म्म मुझे मज़ा ही चाहिए. मैंने बहुत पड़ी है तुम्हारी स्टोरीज. वैसे ही करना है तुम्हे आज जैसा स्टोरीज में करते हो.मैंने उसको कहा: ओके बिलकुल वैसे ही करूँगा.

फिर हमारी कॉफ़ी फिनिश हुई और वो मेरी गॉड में आके बैठ गयी और बालो में अपनी सॉफ्ट सी उंगलिया घुमा रही थी. मैंने अपनी नाक उसकी ब्लू टॉप के अंदर डाली और खुशबू सूंघने लगा.

अह्हह्ह्ह्ह… क्या सुगंध थी दोस्तों उसके बूब्स की. मैंने उसका मुँह पकड़ा और उसके गुलाबी होंठो को किश करने और चूसने लगा. उसने भी अपने होंठ खोल दिए और मेरी जीभ को अपने मुँह से अंदर खींचने लगी.हमारी सिसकारियां गूँज रही थी. ुह्ह्हह्ह… आह्हः.. उउउउउ… मई उसको डीप किश दे रहा था और सीमा भी मज़े से मेरा साथ दे रही थी.

 कभी मैं उसके होंठो को हल्का काट लेता तो वो बोलती-

 Seema bhabhi sex story in hindi: आह्ह्ह्हह… रोहित क्या करते हो बेबी.मई उसकी एक न सुनता और अपने काम में लगा रहता. मैंने फिर कहा उसको-मई: क्या हुआ जान? दर्द हो रहा है तो किश न करू?

सीमा: बेबी… दर्द हो रहा है बूत मज़ा बहुत आ रहा है. ऐसा किश तो मेरे हस्बैंड ने भी नहीं किया कभी उफ्फ्फ.. रोहित. बेबी.. काश तुम मेरे हुब्बी होते तो रोज़ ऐसे ही मज़े दिया करते.मैं उसकी इन बातो से थोड़ा गरम होने लगा. 

हम किश भी करते जाते और वो मुझसे बाते भी करती रहती. वो पूरा मज़ा ले रही थी. उसी सोफे पर बैठे-बैठे हमने २० मिनट तक किश किया.उसके बाद मई वही पर उसकी गर्दन और गालो को चूमने और चाटने लगा. वो गरम आहें भरने लगी और उसके बूब्स ऊपर-नीचे उछलने लगे.

 Seema bhabhi ki chudai ki kahani: आह्ह्ह्ह.. उह्ह्ह.. रोहित.. बेबी… मज़ा दे रहे हो तुम बहुत…फिर मैंने सीमा को गॉड में उठाया और बीएड पर पटक दिया और वो लेट गयी. उसने मुझे अपने ऊपर ज़ोर से खींचा. 

मैं सीधा उसके होंठो पर अपने होंठ चिपका कर उसके ऊपर लेट गया.फिरसे हमारा किश कम्पटीशन स्टार्ट हो गया. कभी वो मुझे किश कर रही थी तो कभी मई उसको किश कर रहा था.

सीमा: उह्ह्ह… बेबी.. मज़ा आ रहा है. और करो बेबी… काटो मुझे.मई: जान मज़ा आ रहा है ना?वो बोली: बहुत ज़्यादा मेरे प्यारे रोहित.मैंने उसका टॉप उतारा और वो ब्लैक ब्रा में थी. उसके बूब्स ब्रा में बहुत कड़क थे और बाहर आने को बोल रहे थे.

 Bhabhi ki chudai ki kahani :- Padosan bahbhi ki chudai ki kahani

मैंने सीमा से कहा: बेबी देखो आपके बूब्स बाहर आने को मचल रहे है. देखो कैसे ऊपर-नीचे हो रहे है.सीमा ने एक बार अपने उछलते हुए बूब्स की और देखा.सीमा शर्माते हुए बोली: बेबी अब तुम पर देपेंद करता है की तुम इन बेचारो को तड़पने देते हो या इन्हे आज़ाद करते हो.मई समझ गया की वो क्या चाहती है.मैंने उसकी ब्रा खोल दी और बूब्स उछाल कर मेरे सामने आ गए. 

ऐसा लग रहा था जैसे कही चिप गए थे और अब अचानक मुझे सरप्राइज करने के लिए एक-दम से बाहर आ गए हो. मई उन बूब्स को अपने दोनों हाथो से मसलने लगा.सीमा: आराम से करो दर्द होता है.ये उसका दर्द का झूठा नाटक था. वो चाहती थी की मई और कस के दबाउ.फिर मैंने उसका एक निप्पल अपने मुँह में रखा और चूसने लगा. बहुत ही सॉफ्ट था उसका निप्पल. मुझे निप्पल चूसने में बहुत मज़ा आ रहा था.

मई उसको चूसता गया और दुसरे बूब को ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था. वो मछली की तरह तड़प रही थी और मज़ा भी ले रही थी.सीमा: आह्ह्ह्हह… ुह्ह्ह्ह… मज़ा आ रहा है. और चूसो और चूसो हम्म्म.. हम्म..मई बूब्स को बारी-बारी से चूसता गया और वो मज़ा लेती रही. वो अब बहुत गरम हो चुकी थी. फिर मई बूब्स चूसता हुआ उसके पेट पर पहुंचा. वो बहुत सॉफ्ट था. उसकी नाभि में मैंने अपनी नाक घुसाई और खुसबू लेने लगा.सीमा: उउइइइइइ.. मा..मई धीरे-धीरे उसकी नाभि को चाट रहा था और किश भी कर रहा था. वो लम्बी-लम्बी सिसकारियां भर रही थी.

 उसकी सिसकारियों से बूब्स ऊपर-नीचे हो रहे थे. मेरे दोनों हाथ बूब्स दबा रहे थे और मेरा मुँह नाभि में ही था.फिर मई नीचे गया तो उसकी ब्लू जीन्स मेरे सामने थी. मैंने उसको भी धीरे से उतारा. उसने गांड ऊपर करके जीन्स उतारने में मेरी हेल्प की. मैंने जीन्स उतार दी और वो अब ब्लैक पंतय में थी. उसकी पंतय पूरी गीली थी. मैंने पंतय के ऊपर से ही एक किश किया.सीमा: रोहित… अह्ह्ह्ह.. माआआ..मैंने पंतय को ऊपर से पकड़ते हुए उतारा. सीमा अब मेरे सामने बिलकुल नंगी थी. 

उसने अपनी छूट पर हलके बाल रखे थे और छूट पर वो बाल उसकी ख़ूबसूरती में चार चाँद लगा रहे थे.उसको देख कर लग रहा था की उसका पति सेक्स नहीं करता है अचे से. मैंने अपना मुँह छूट पर लगा दिया और छूट में अपनी जुबां घुमा दी. वो ज़ोर से आहें भरने लगी.सीमा: ुउउइइइइइमायआ.. ऐसा तो मेरे हस्बैंड ने वह कभी नहीं किया है. मज़ा बहुत आ रहा है बेबी.मई उसकी इस बात से और एक्ससिटेड हो गया और जुबां को और ज़ोर से छूट में घुमा रहा था.

 उसकी छूट के ऊपर के हिस्से को भी जीभ से चाट रहा था. वो पूरे बीएड पर उछाल-कूद कर रही थी और मेरे सर को छूट में दबा रही थी और बोल रही थी-सीमा: मज़ा आ गया राजा. और ज़ोर से ाःह.. अब से मई हर बार तुमसे ही सेक्स करवाउंगी. अह्ह्ह्ह.. ोीीिमआ.. और अंदर डालो अपनी जुबां आह्हः..मैंने २० मिनट उसकी छूट छाती और वो २ बार झाड़ गयी थी. अब वो उठी और मेरे कपडे उतारने लगी. 

Read Bhabhi ki chudai ki kahani


उसने मेरी शर्ट और जीन्स उतारी जल्दी से. अब मई इनर-वियर में था. उसने झट से वो भी उतार दिए और मई उसके सामने नंगा था.अब हम दोनों नंगे थे. वो मेरे ऊपर आयी और मुझे बीएड पर पीठ के बल लिटा दिया. वो मुझे किश करने लगी कभी होंठो पर तो कभी गाल और गर्दन पर. अब वो किश करते हुए मेरी चेस्ट पर आ गयी और मेरे निप्पल्स को चूसने लगी.मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

 मेरे मुँह से अह्ह्ह.. निकल गयी. फिर वो मेरे खड़े लुंड की और आयी. उसने लुंड को झट से मुँह में ले लिया और मई जन्नत की सैर कर रहा था.वो लुंड चूसती गयी अपने कोमल से मुलायम होंठो से. सीमा ने लुंड को चाटना शुरू किया. फिर मेरे अंडो को मुँह में लेकर चूस रही थी. पूरा मज़ा दे रही थी. जिसके कारण पहली बार ५ मिनट में मेरा पानी निकाल दिया उसके इस सेक्सी ब्लोजॉब ने. 

उसके साथ सेक्स करके मज़ा आ गया.फिरसे वो लुंड खड़ा करने के लिए लुंड को मुँह लेकर चूसने लगी. १० मिनट चूसने के बाद लुंड फिरसे खड़ा हो गया. अब वो छोड़ने के लिए तैयार थी. उसने लुंड पर कंडोम चढ़ाया और बीएड पर लेट गयी.मैंने उसकी टाँगे पकड़ी और दूर किया. फिर लुंड को हिलाते हुए उसकी छूट पर हलके-हलके से घुमाने लगा.वो बोली: उह्ह्ह.. मत तड़पाओ यार… बहुत दिन से तड़प रही हु इस पल के लिए. तुम और देर न करो. प्लीज बेबी दाल दो और छूट फाड़ दो.

मैंने एक ज़ोर का झटका दिया और आधा लुंड उसकी छूट में घुस गया.वो चिल्लाई: आह्ह्ह्हह.. धीरे.. डालो.वो बीएड पर अपने हाथ पेअर पटकने लगी. शायद बहुत दिन बाद चूड़ी थी इसलिए. उसकी छूट भी काफी टाइट लग रही थी और वो इसी वजह से चिल्लाई. मैंने अब लुंड को धीरे-धीरे आगे-पीछे करने लगा.सीमा: उह्ह्ह.. अह्ह्ह.. माँ.. धीरे-धीरे करना प्लीज.मई ५ मिनट तक धीरे-धीरे छोड़ रहा था. अब उसे भी मज़ा आने लगा और ज़ोर से छोड़ने को बोल रही थी. मैंने अब एक ज़ोर का धक्का दिया और पूरा लुंड उसकी छूट में चला गया.

Seema bhabhi ki chudai ki kahani:- उम्.. अह्हह्ह्ह्ह.. करके चिल्ला रही थी और मई उसको छोड़ता जा रहा था. वो धीरे छोड़ो धीरे छोड़ो बोलती गयी और मई छोड़ता गया. १० मिनट में वो अपनी कमर मेरे लुंड की और हिलाने लगी. मई समझ गया की अब उसको मज़ा आ रहा है और में छोड़ता गया.फिर मैंने पोजीशन बदली और उसको डोगग्य बनाया. फिर पीछे से उसकी २ मिनट गांड और छूट एक साथ छाती और लुंड छूट में घुसेड़ दिया.सीमा: हरामज़ादे.. कुत्ते.. धीरे छोड़ न.उसके मुँह से गाली सुन कर मज़ा आ गया. 

मई और ज़ोर से छूट मारने लगा और एक हाथ से उसके बाल पकड़ के खींच रहा था. वो पूरी मस्त होकर मेरे धक्को का जवाब अपनी गांड आगे-पीछे करके देने लगी.हम दोनों पसीने में भीगे हुए थे. एक चालु था और हम दोनों गर्मी में चुदाई का गेम खेल रहे थे. १५ मिनट ऐसे ही छोड़ने के बाद मैंने उसको दीवार के सहारे खड़े होने को कहा.वो मेरी इस बात से खुश हुई और बोली-सीमा: आज तक मई बीएड से उतर कर कभी चूड़ी ही नहीं. आज पहली बार कोई मुझे बीएड से दूर ले-जाकर छोड़ेगा. मेरी जान.. लव यू.फिर वो दीवार को पकड़ के कड़ी हो गयी. 

मैंने उसकी कमर को पकड़ कर पीछे किया और वो झुक गयी. मैंने लुंड उसकी छूट में घुसाया एक ही बार में लुंड अंदर घुसेड़ दिया.सीमा: आह्ह्ह्ह.. क्या लुंड है बे तेरा. साला दर्द दिए बिना अंदर नहीं जाता क्या?मई हसने लगा और चुदाई करने लगा.सीमा: ऊह्ह्ह्हह्ह.. यस फ़क में फ़क में बेबी.वो ऐसे बोलती रही और मई उसको छोड़ता गया. इसी बीच वो झाड़ गयी. वो अब तक ५ बार पानी निकाल चुकी थी. मई अपनी चरम सीमा पर था. फिर मैंने उसको उठाया और बीएड के किनारे लिटा दिया और छोड़ने लगा.

Seema bhabhi sex story in hindi: एसससस फ़क फ़क में फाड़ दो मेरी छूट को.वो बोलती गयी और में ज़ोरदार चुदाई करता गया. और ५ मिनट बाद मेरा पानी निकल गया. मई छूट में ही फ्री हो गया और उसके ऊपर आ गया और वो मुझे और मई उसको चूमने लगा.सीमा: रोहित बेबी तुमने खूब मज़ा दिया है आज. मेरे हुब्बी से भी बहुत ज़्यादा चुदाई की है.फिर ५ मिनट बाद मैंने लुंड बाहर निकला और उस पर से कंदों को निकला जिसमे मेरा माल था. सीमा ने कंडोम को हाथ में लिया और उसको ऊपर से ही चाटने लगी और थोड़ी सी जुबां कंडोम के अंदर डाली जिसमे मेरा पानी भरा हुआ था.उसने उस पानी को हल्का सा छाता और आँख बंद करके अपनी जुबां मुँह के अंदर ले गयी.

सीमा: ुह्ह्ह्ह क्या मस्त स्वाद है इसका.मई: तो पूरा पी जाओ मेरी बुलबुल.वो मुझे देखते हुए सारा पानी पी गयी. उसके बाद मैंने उसको रात में ४ बार और छोड़ा. मॉर्निंग में ७ बजे मेरी आँख खुली.वो मुझसे लिपट कर बोली: बेबी मेरे साथ २ दिन के लिए टूर पर चलोगे क्या जयपुर.मैंने भी बोल दिया: उसके लिए एक्स्ट्रा चार्ज लगेगा.वो बोली: कोई बात नहीं तुम ले लेना अपने चार्जेज.

 लेकिन मुझे वह २ दिन तक मस्ती करवानी होगी. छूट में लुंड डालना होगा और मई वह तुमसे अपनी गांड भी मरवाना चाहती हु.मई: ठीक है. कब जाना है?सीमा: आज ही.

No comments:

Post a Comment